Actions

यम

From जैनकोष


  1. देखें - लोकपाल / १
  2. भोग व उपभोग्य वस्तुओं का जो जीवन पर्यन्त के लिए त्याग किया जाता है उसको यम कहते हैं। (देखें - भोगोपभोग परिमाणव्रत );
  3. कालाग्नि विद्याधर का पुत्र था। (प. पु./८/११४)  इन्द्र द्वारा इसको किष्कुपुर का लोकपाल बनाया है। (प. पु./८/११५) फिर अन्त में रावण द्वारा हराया गया था। (प. पु./८/४८१-४८५)।
  4. देखें - वैवस्वत यम।

Previous Page Next Page