Actions

अंकमय

From जैनकोष

पद्महृदस्थ एक कूट - देखे लोक ५/७।