ज्ञानाराधना

From जैनकोष



चतुर्विध आराधनाओं में दूसरी आराधना । इसमें जिनागम में प्रतिपादित जीव आदि तत्त्वों को निश्चय नय से जाना जाता है । पांडवपुराण 19.265


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ