षड्दर्शन समुच्चय

From जैनकोष

श्वेतांबराचार्य हरिभद्रसूरि (ई.480-528) द्वारा रचित संस्कृत सूत्र बद्ध ग्रंथ है। इसमें जैन, बौद्ध, चार्वाक, न्याय-वैशेषिक, सांख्य-योग और मीमांसक इन छह दर्शनों का संक्षिप्त वर्णन है।


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ