षष्ठी व्रत

From जैनकोष

6 वर्ष तक प्रतिवर्ष श्रावण शु.6 के दिन उपवास करे। तथा 'ओं ह्रीं श्री नेमिनाथाय नम:' इस मंत्र का त्रिकाल जप करे। (व्रत विधान सं./122)।


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ