षाष्ठिक

From जैनकोष



साठी नाम का अनाज । यह तीर्थंकर वृषभदेव के समय में उत्पन्न होने लगा था । महापुराण 3. 186


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ