Actions

Category

भूधरदासजी

From जैनकोष

कविवर भूधरदासजी :- आगरा (उ.प्र.) निवासी कविवर भूधरदासजी खण्डेलवाल जाति के प्रकाण्ड विद्वान के साथ-साथ अच्छे प्रवचनकार थे । आप शाहगंज स्थित दिगम्बर जैन मंदिर में नियमित शास्त्र-प्रवचन करते थे । आपका जन्म वि. सं. १७५० (सन् १६९३) एवं निधन सं. १८०६ (सन् १७४९ ई.) में हुआ । आपके द्वारा पार्श्वपुराण, जैन शतक एवं भूधर पद संग्रह की रचना की गई है । पार्श्वपुराण का समापन सं. १७८९ (सन् १७३२) में आगरा में किया गया । इस पुराण में तेईसवें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ के नौ भवों का सुन्दर चित्रण किया गया है । जैन शतक में १०७ कवित्त, दोहे, सवैये और छप्पय हैं जो वैराग्यवर्धक रचना हैं । भूधरदासजी के आध्यात्मिक भजन जीवन में आस्था और विश्वास जागृत करते हैं ।

Pages in category "भूधरदासजी"

The following 41 pages are in this category, out of 41 total.